प्रेरणादायक स्टोरी: ‘7 मई को होने वाली शादी को टाल दिया, जिंदगी रही तो बाद में हो जाएगी’

फोकस भारत। राजस्थान के  फतेहगढ उपतहसील झिनझिनयाली के राजस्व गांव गुहड़ा के सक्रिय व जागरूक व्यक्ति नरेश देवपाल जो पंचायत समिति फतेहगढ में नरेगा टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत है जिन्होंने अपनी होने वाली शादी प्रस्तावित 30 अप्रेल व 7 मई दो शुभ मुहूर्त थे जिसको कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण स्थगित करवा दी है।देवपाल का कहना है कि जिंदगी रही तो आगे शादी कर देंगे अभी सभी को मिलाकर कोरोना को हराना है ।पूरे भारत मे कोरोना पैर पसार रहा है हर गांव गली मोहले में कोरोना ने हाहाकार मचा दी है लोगो मे भय का माहौल है अस्पतालों में मरीज को बेड नही मिल पा रहा है और समय पर ऑक्सिजन भी पर्याप्त मात्रा में नही मिल पा रही है जिनकी वजह से लोग दिनों दिन मर रहे है । शादी में अनुमत से ज्यादा मेहमान बुलाकर लोगो की जान जोखिम में डाल रहे है ।मैने लड़की वाले से इस कोरोना की गम्भीर स्थिति के बारे में अवगत करवाया तो उन्होंने मेरा समर्थन किया और शादी को टाल दिया ।

इसलिए मेरे सभी दोस्तो, रिस्तेदारो व सभी से अनुरोध है की आप भी मई माह में होने वाली शादी को स्थगित करवाओ जिससे कोरोना की चेन को तोड़ सके और संक्रमण को रोका जा सके। मेरा सभी से अनुरोध है की बिना बेवजह घर से बाहर न निकले जरूरत पड़े तो ही बाहर निकले मास्क का प्रयोग करते हुए समय समय हाथ को साबुन से धोते रहै और सेनिटाइजर का उपयोग करे भीड़ भाड़ वाले स्थान पर न जाये।