कैसे पाकिस्तान ने लड़ी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग, WHO ने भी की तारीफ़

डेस्क। जहां एक तरफ भारत सहित कई बड़े देशों में कोरोना ने जमकर कहर बरपाया है। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान जैसे अविकसित देश ने कोरोना के खिलाफ जमकर जंग लड़ी है। अब इसकी तारीफ़ WHO ने करते हुए अन्य देशों को पाकिस्तान जैसे देश से सबक लेने को कहा है।

आखिर पाकिस्तान में कोरोना के इतने कम केस कैसे हुए। एक समय शुरुआत में कोरोना मीटर में पाकिस्तान भारत के काफी आगे था। लेकिन फिर धीरे-धीरे उनका ग्राफ काफी कम होता गया। डब्लूएचओ चीफ ने बताया कि पाकिस्तान ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पिछले कई साल में पोलियो के लिए बनाए गए बुनियादी ढांचे का सहारा लिया है। WHO के अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान ने अपने पोलियो कार्यकर्ताओं का इस्तेमाल निगरानी, कंटेक्ट ट्रेसिंग और देखभाल के लिए किया। इस कारण देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से गिरावट देखने को मिली।

अगर पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों के कुल आंकड़ों की बात करें तो यहां कोरोना के करीब तीन लाख मरीज है। यहां अभी तक कोरोना संक्रमण से 6,379 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। पाकिस्तान में अभी सिर्फ 10-12 हज़ार एक्टिव केस है। करीब 2,90,000 लोग कोरोना से ठीक होकर अपने घर चले गए। वाकई अगर पाकिस्तान कोरोना से जुड़े पाने सही तथ्य नहीं छुपा रहा है तो अन्य देशों को भी पाकिस्तान से सीख लेने के जरुरत है।