..नहीं रहे रघुवंश प्रसाद सिंह, दिल्‍ली के AIIMS में ली अंतिम सांस

डेस्क। बिहार की राजनीति का एक बड़ा नाम रविवार को दुनिया को अलविदा कह गया। पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में मौत हो गई है। वे वेंटिलेटर पर थे। उनके निधन पर बिहार में शोक की लहर है। रघुवंश प्रसाद सिंह का बिहार की राजनीति में काफी वर्चस्व था। वो लालू प्रसाद यादव के सबसे करीबी माने जाते थे। लेकिन उन्होंने मौत के कुछ दिनों पहले ही उन्‍होंने राष्ट्रीय जनता दल से अपना पुराना नाता तोड़ लिया था।

आपको बता दें रघुवंश प्रसाद सिंह कुछ दिनों पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद उनका पटना के एम्स में इलाज किया गया था। कुछ ठीक होने के बाद उन्हें पोस्ट कोविड मर्ज के इलाज के लिए दिल्ली एम्स ले जाया गया था। लेकिन यहां उनको सांस लेने की समस्या बढ़ गई। जिसके चलते उनको वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। लेकिन रविवार सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली।

उनके निधन पर शोक जताते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने लिखा ”श्री रघुवंश प्रसाद सिंह जी के निधन के साथ ही गाँव व किसान की एक मज़बूत आवाज़ सदा के लिए खो गई है। गाँवों व किसानों के उत्थान के लिए उनकी सेवा और लगन तथा सामाजिक न्याय के लिए उनके संघर्ष को सदा याद रखा जाएगा। मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि..

अपने प्रिय मित्र को खोने के बाद लालू प्रसाद यादव भावुक हो गए उन्होंने लिखा ”प्रिय रघुवंश बाबू! ये आपने क्या किया? मैनें परसों ही आपसे कहा था आप कहीं नहीं जा रहे है। लेकिन आप इतनी दूर चले गए। नि:शब्द हूँ। दुःखी हूँ। बहुत याद आएँगे।