क्यों वायरल हो रहा वैभव-सीपी जोशी का वीडियो ?

  • बागियों को लेकर स्पीकर-वैभव की बात 
  • 30 विधायक निकल जाते तो सरकार गिर जाती- जोशी 

फोकस भारत। राजस्थान की राजनीति में टेप कांड का सिलसिला थम नहीं रहा है। सारा बखेड़ा ही ऑडियो टेप के बाद खड़ा हुआ और सियासी तूफान में बदल गया। अब एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। यह वीडियो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत और विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी का है, जिसमें वे औपचौरिक बातचीत करते नजर आ रहे हैं।

वैभव गहलोत ने स्पीकर सीपी जोशी के जन्मदिन के मद्देनजर उनके घर जाकर उन्हें बधाई दी थी। वैभव गहलोत आरसीए में पदाधिकारी हैं और सीपी जोशी भी आरसीए के अध्यक्ष रह चुके हैं। दोनों के बीच बागी विधायकों के बारे में बातचीत हुई थी। वैभव ने इस मुलाकात की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर डाली थीं। इस मुलाकात का वीडियो अब सामने आ रहा है। दोनों के बीच राजस्थान के सियासी हालात और सरकार बचाने को लेकर चर्चा हो रही है। वीडियो में बातचीत के अंश इस प्रकार हैं-

 

सीपी जोशी-  ‘मामला अभी बहुत टफ है, हालात मुश्किल हैं।

वैभव गहलोत- राज्यसभा चुनाव के बाद 10 दिन निकाला फिर वापस रखा।

सीपी जोशी- 30 आदमी निकल जाते हैं तो आप कुछ नहीं कर सकते। हल्ला करके रह जाते, वो सरकार गिरा देते। अपने हिसाब से उन्होंने कान्टेक्ट किया इसलिए हो गया। दूसरे के बस की बात नहीं थी।

जाहिर है कि वैभव और डॉ. जोशी पार्टी में बगावत करने वाले नेताओं का जिक्र कर रहे थे। लेकिन इस बातचीत को सियासी रंग देने की कोशिश की जा रही है। सोशल मीडिया पर लगातार यह वीडियो एक ग्रुप से दूसरे ग्रुप में जा रहा है।

क्या मायने हैं बातचीत के ?

कुछ खास नहीं, सीपी जोशी ने बागियों को लेकर चिंता जताई है। साथ ही यह अंदेशा भी जताया कि अगर सचिन पायलट के साथ 30 विधायक हो जाते तो सरकार का गिरना तय था। सीपी जोशी समीकरणों के आधार पर अपनी बात करते दिखाई दे रहे हैं। उधर, वैभव गहलोत भी यह कहने की कोशिश कर रहे हैं कि राज्यसभा चुनाव के बाद ही बागियों के रुख को लेकर सही कार्यवाही की जानी चाहिए थी।

रिपोर्ट- आशीष मिश्रा