राजस्थान: पर्यटन मंत्री की ‘ट्वीट पॉलिटिक्स क्रॉनोलॉजी’

राजस्थान के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह (Vishvendra Singh) आम तौर पर पार्टी लाइन से अलग जाकर बेबाक बयानों के लिए चर्चा में रहते आए हैं। विश्वेंद्र सिंह एक बार फिर अपने ट्वीट को लेकर बेहद चर्चा में हैं। आईए उनकी ‘ट्वीट पॉलिटिक्स क्रॉनोलॉजी’ को जानते है।

राजस्थान: पर्यटन मंत्री की ‘ट्वीट पॉलिटिक्स क्रॉनोलॉजी’

विश्वेंद्र सिंह ने 1 मई को ट्ववीट करके आरटीडीसी में भ्रष्टाचार की स्वतंत्र एजेंसी से जांच करवाने की मांग की।

3 मई को सतीश पूनिया ने इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा, महाराज साहेब प्रणाम, आपका यह अंदाज अच्छा है।

सतीश पूनिया को विश्वेंद्र सिंह ने फिर जवाबी ट्वीट करते हुए लिखा, भाई साहब प्रणाम, आप जमीन से जुड़े हुए व्यक्तित्व के धनी हैं, हम सभी का लक्ष्य समाज में सरकार के माध्यम से स्वच्छता, शुचिता एवं उच्च मानवीय मूल्यों की स्थापना करना है, जिसके लिए हम सभी प्रयासरत हैं।

इस पर राजस्थान बीजेपी के ट्वीटर हैंडल से फिर जवाबी ट्वीट किया गया, आप दोनों बधाई के पात्र हैं डॉ. सतीश पूनियाजी और विश्वेंद्र सिंह जी

हनुमान बेनीवाल ने विश्वेंद्र सिंह को कम महत्व के विभाग देने का ट्वीट किया, विश्वेंद्र सिंह का जवाब— हनुमान भाई कभी पधारो भरतपुर

4 मई को आरएलपी नेता और सांसद हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट किया, विश्वेन्द्र सिंह जी जैसे सजग व्यक्ति को पर्यटन के स्थान पर उर्जा व जलदाय ,गृह जैसे महत्पूर्ण महकमों का मंत्री बनाया जाना था, मगर, कांग्रेस ने ऐसा नही किया. इसके जवाब में, विश्वेंद्र सिंह ने ट्वीट किया, हनुमान भाई आपके इस स्नहे एवं प्यार के लिए बहुत बहुत धन्यवाद, मैं समाज के लिए सदैव समर्पित हूं, हनुमान जी कभी पधारो भरतपुर..

4 मई को इसके बाद विश्वेंद्र सिंह ने फिर जवाबी ट्वीट किया और लिखा— दोस्ती, भाईचारे और परिवार का रामनिवास गावड़िया, हनुमान बेनीवाल, रूपाराम मुरावतिया

5 मई को इस पर भाजपा विधायक रूपाराम मुरावतिया ने जवाबी ट्वीट किया, प्रिय छोटे भाई विश्वेंद्र सिंहजी, मैं ख़ुशनसीब हूं, जो मुझे परिवार में सबका बड़ा भाई बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है, यह पूरा परिवार ही भ्रष्टाचार, अनैतिकता, गैरजिम्मेदारी ओर गलत का पुरजोर विरोध करने वाला है, प्रार्थना है कि परमेश्वर हमारी यह शक्ति और उर्जा बरकरार रखेंगें।

Leave a Reply