ग्राउंड जीरो से रिपोर्ट : सड़क पर दोपहर की तीखी धूप में बैठे किसान, भारत बंद का व्यापक असर

फोकस भारत। देश की संसद में पारित हुए कृषि बिलों के खिलाफ देश भर में शुक्रवार को किसानों ने भारत बंद बुलाया है। बिल के विरोध में किसानों के अलावा विपक्षी दल के कई नेता भी इसके विरोध मे सड़कों पर उतर आए हैं। भारत बंद का सबसे ज्यादा असर पंजाब और हरियाणा में देखने को मिल रहा है।

 

कैसे रहा भारत बंद

-पंजाब में अमृतसर, फरीदकोट समेत कई शहरों में किसान रेलवे ट्रैक पर डेरा जमाए बैठे हैं। किसानों के आंदोलन को देखते हुए रेलवे ने पंजाब जाने वाली 13 जोड़ी ट्रेनों को पंजाब पहुंचने से पहले ही टर्मिनेट कर दिया। इसके अलावा 14 ट्रेनों को कैंसल कर दिया है। पंजाब के मानसा शहर में भारत बंद का असर साफ नजर आ रहा है। सिर्फ सड़कें ही नहीं रेल की पटरियां तक किसानों के आक्रोश की गवाही दे रही हैं। पंजाब के अलग-अलग 31 किसान संगठनों ने आज बंद का आह्वान किया है। इसमें सबसे प्रमुख भारतीय किसान यूनियन जो इस आंदोलन का यहां नेतृत्व कर रही है। पंजाब के कई लोक कलाकारों ने भी किसानों का समर्थन किया है। जहां दलजीत दोसांज जैसे बड़े गायकों ने किसानों के समर्थन में सोशल मीडिया पर आवाज उठाई है वहीं, सिद्धू मूसेवाला जैसे गायक किसानों के समर्थन में सड़क तक उतर आए हैं।

-बिहार के दरभंगा में राजद कार्यकर्ताओं ने भैंसों पर चढ़कर किसान बिल का विरोध किया, राजधानी पटना में बीजेपी दफ्तर के बाहर प्रदर्शनकारियों और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबर है।

-कर्नाटक में किसान एसोसिएशन से जुड़े लोगों ने कर्नाटक-तमिलनाडु को जोड़ने वाली हाईवे पर जमकर विरोध-प्रदर्शन किया

-भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी किसानों ने प्रदर्शन किया, लखनऊ से सटे बाराबंकी, सीतापुर और रायबरेली के अलावा पश्चिमी यूपी में किसान सड़क पर उतरे नजर आए, प्रदर्शन के दौरान किसानों ने कई जगहों पर पराली जलाई।

-तमिलनाडु में राष्ट्रीय दक्षिण भारतीय नदी इंटरलिंकिंग किसान संघ ने कृषि बिल के खिलाफ अलग अंदाज में प्रदर्शन किया, यहां किसानों ने त्रिची में कलेक्टर कार्यालय के बाहर मानव खोपड़ियों, जंजीरों और नर कंकाल के साथ अपना विरोध दर्ज कराया

नोएडा में भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने किसान बिल के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन किया, इस दौरान पुलिस भी मौके पर तैनात रही, नोएडा के एडिशनल डीसीपी ने कहा कि हमने ट्रैफिक को डायवर्ट किया है ताकि लोगों को किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ें। दिल्ली-नोएडा सड़क पर दोपहर की तीखी धूप में प्रदर्शनकारी किसान बीच सड़क पर बैठे हुए हैं। नोएडा के आसपास के इलाकों से ट्रेक्टर-ट्रॉलियों में सवार होकर आए किसानों ने कहा कि  ‘मोदी सरकार मुर्दाबाद’, ‘किसान बिल वापिस लो…प्रदर्शनकारियों में शामिल एक युवक ने कहा , ‘हम किसानों ने मोदी सरकार को वोट दिया। सरकार बनवाई और अब यही मोदी सरकार किसानों को बर्बाद करने के लिए काम कर रही है।