जापान में फंसे भारतीय स्वदेश वापसी चाहते है, संक्रमण के साथ इस बड़े खतरे से दहशत में

फोकस भारत। पूरी दुनिया में कोरोना से हाहकार मचा हुआ है, भारत के भी कई लोग विदेशो में फंसे हुए है।  वही जयपुुर के भी कई लोग विदेशों में फंसे है । ऐसे में जयपुर निवासी कमल विजयवर्गीय समेत कई भारतीय  जापान में फंसे हुए है।  जिन्होंने भारत सरकार से उन्हें स्वेदश लौटने की अनुमति देने की मांग की है। दरअसल जापान के टोक्यो में फंसे कमल विजयवर्गीय ने भारत सरकार से मांग की है उन्हें भारत लाने की व्यवस्था की जाए क्योंकि जापान में भी कोरोना का संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। वहीं दूसरी ओर भूकंप का सांया भी मंडरा रहा है। कमल ने कहा कि मेरी पत्नी और बच्चे जयपुर में है और यहां कोरोना से बिगड़ते हालात से में चिंतित हूं।

गौरतलब है कि जापान में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले 10 हजार के पार पहुंच चुके हैं, जापान में स्टेट ऑफ इमरजेंसी लगा दी गई है लेकिन लॉकडाउन का ऐलान नहीं किया है। जिसकी वजह से लोग बेरोक-टोक बाहर घूम रहे हैं। इससे मौजूदा हालातों को देखते हुए जापान में रहने वाले भारतीयों की चिंता बढ़ गई है।जापान के टोक्यो इलेक्ट्रिक पावर को (TEPCO) ने देश में फिर से सुनामी आने की चेतावनी दी है। बुधवार को टेप्को ने सरकारी रिपोर्ट का आकलन करते हुए बताया कि देश को फिर से खतरनाक सुनामी का सामना करना पड़ सकता है जिसका प्रभाव फुकुशिमा न्यूक्लियर स्टेशन पर भी पड़ेगा। 9 साल पहले 2011 में भी भयंकर भूकंप और सूनामी से यह स्टेशन बहुत प्रभावित हुआ था। जापान के सरकारी पैनल ने बताया कि महाभूकंप जापान और कुरिल ट्रेंच के उत्तरी हिस्से में आने की आशंका है। इससे जापान का उत्तरी हिस्सा प्रभावित हो सकता है। इस भौगोलिक घटनाओं से भूकंप और सुनामी आने की आशंका है

Leave a Reply