मेडिकल जर्नल ‘द लैंसेट’ में PM मोदी की तीखी आलोचना, भारत में कोरोना चरम पर लेकिन उनका ध्यान ट्विटर पर अपनी आलोचना को दबाने पर ज़्यादा

फोकस भारत। lancet editorial modi government responsible for deteriorating situation due to corona in india ignoring second wave warnings दुनिया की फेमस मेडिकल जर्नल द लैंसेट (The Lancet ) ने अपने आठ मई के अंक के संपादकीय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) की आलोचना करते हुए लिखा है कि उनका ध्यान ट्विटर पर अपनी आलोचना को दबाने पर ज़्यादा और कोविड – 19 महामारी पर काबू पाने पर कम है।  दरअसल अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जर्नल लांसेट ने अपने संपादकीय में मोदी सरकार की आलोचना करते हुए लिखा है कि बार-बार चेतावनी देने के बाद भी सरकार लापरवाह बनी रही और भारत को कोरोना विजयी घोषित कर दिया। जर्नल ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि आगामी अगस्त तक भारत में करीब 10 लाख कोरोना मौतें हो सकती हैं। जर्नल ने लिखा, “ऐसे मुश्किल समय में मोदी की अपनी आलोचना और खुली चर्चा को दबाने की कोशिश माफी के काबिल नहीं है” जर्नल ने कहा कि तमाम चेतावनियों के बाद भी सरकार ने राजनीतिक और धार्मिक रैलियों की इजाजत दी, जिसमें कोविड-19 नियमों का खुला उल्लंघन किया गया। लांसेट ने कहा कि यदि ऐसा होता है इस तरह के स्व-निर्मित राष्ट्रीय आपदा के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार होगी। अप्रैल तक सरकार की कोविड-19 टास्क फोर्स ने महीनों से कोई बैठक नहीं की है। इसका परिणाम हमारे सामने है। भारत को अब संकट से उबरने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए

lancet editorial modi government responsible for deteriorating situation due to corona in india ignoring second wave warnings