राजस्थान BJP प्रदेशाध्यक्ष का आमजन से वर्चुअल संवाद, Corona में जनभागीदारी पर कही ये अहम बात

फोकस भारत। राजस्थान  भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने ‘कोरोना-जनभागीदारी और हमारी भूमिका विषय पर’ प्रदेश के आमजन एवं पार्टी कार्यकर्ताओं से वर्चुअल लाइव संवाद किया, इस दौरान लोगों के सवालों के जवाब भी दिये, जिसमें उन्होंने विशेष जोर देते हुये कहा कि, मैं भरोसे और विश्वास के साथ कह सकता हूं कि कोरोना हारेगा, भारत जीतेगा-राजस्थान जीतेगा, जरूरत है सिर्फ आपकी मजबूत इच्छाशक्ति की, आपके स्व-अनुशासन की और आपकी जनभागीदारी की।
प्रदेशवासियों को भगवान महावीर जयंती की शुभकामनायें.. जैन पंथ, धैर्य संयम, अपरिग्रह, अहिंसा इन सब चीजों की प्रेरणा देता है। मुख पर पटि्टका, आहार एवं व्यवहार की शिक्षा जैन पंथ की प्रमुख शिक्षाओं में से एक है। पूरी दुनिया के समक्ष कोरोना का संकट है, लोग बताते हैं कि स्पेनिग फ्लू, प्लेग इत्यादि का कहर, चेचक, भूकंप इस तरह की अनेक त्रासदियां पृथ्वी ने झेली हैं, भारत में हमारे बड़े-बुर्जुग एवं हम लोग अनेक चुनौतियों के साक्षी हैं, कोरोना की एक लहर का मुकाबला हम सब लोगों ने मिलकर किया, अब दूसरी लहर का भी हम मिलकर मुकाबला कर रहे हैं।

यह भारत की खूबसूरती है कि जब-जब संकट आये मिलकर मुकाबला किया और विजयी हुये, चाहे कोई महामारी हो या 1965 का युद्ध हो, तत्कालीन प्रधानमंत्री स्व.लाल बहादुर शास्त्री की अपील पर देश के जनमानस ने उपवास रखा, जनता ने अपने जेवर तक लड़ाई के लिये सेना को सुपुर्द कर दिये, कारगिल के युद्ध के दौरान भी जांबाज सैनिकों के सम्मान में पूरी जनता सड़कों पर तिरंगे हाथ में लिये उतर आई थी। कोरोना के पहले संक्रमण की लहर में हम सबने देखा कि किस तरह से सेवा भाव के साथ लोगों ने जोखिम लेकर सेवा की, हम लोग कोरोना की लड़ाई जीते, यह कोरोना के खिलाफ दूसरी जंग है जो जनता की भागीदारी से ही हम जीतेंगे, हम सब लोग इस समाज की व्यवस्था में, प्रक्रिया में, हिस्सेदार हैं, जब इस तरह का कोई भयानक मंजर होता है तो स्वाभाविक तौर पर भय और डर का माहौल होता है, अफ्रीका के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ नेल्सन मंडेला कहते थे कि आशावाद जीत का लक्षण है, डर भय लोगों में हार की आशंका पैदा करते हैं, तो हमें डर के आगे जीत को लक्ष्य बनाकर कोरोना को हराना है।
कोरोनाकाल में पिछले दिनों भाजपा ने प्रदेशभर में ‘सेवा ही संगठन’ के सेवा कार्यों के माध्यम से जरूरतमंदों की मदद के लिये एक हेल्पलाइन 08929208080 स्थापित की, जिसके माध्यम से लोगों की हरसंभव मदद की जा रही है, इस पर सबसे ज्यादा रेमेडिसिवर, ऑक्सीजन, आइसीयू इत्यादि को लेकर ज्यादा कॉल्स आने की जानकारी मिली है।

डॉक्टर्स, विशेषज्ञ, बुद्धिजीवी लोग सभी अपील कर रहे हैं कि सामान्य खांसी, जुकाम, बुखार के लक्षण कोरोना नहीं हैं, गंभीर लक्षण हैं तो जांच जरूर करवायें। जानकारी में आया है कि देशभर में 4 लाख 98 हजार संक्रमण के आंकडे आये, उनमें से 3.50 से अधिक रिकवरी वाले हैं, इसका मतलब साफ है कि प्रारंभिक तौर पर गंभीर लक्षण नहीं हैं तो हम सब लोग घर पर आइसोलेशन में रहकर चिकित्सकों के परामर्श से स्वस्थ हो सकते हैं, ऐसा हो भी रहा है, जिसमें आमेर सहित प्रदेश के कई जिलों में मेरी चिकित्सकों से बात हुई तो उन्होंने यह मुझे बताया, वे घरों पर जाकर लोगों की काउंसलिंग कर रहे हैं, लोग स्वस्थ हो रहे हैं। पाली के विधायक ज्ञानचंद पारेख प्रतिदिन लगभग 18 घंटे सेवा कार्य कर रहे हैं, जिससे लोगों को बड़ी राहत मिल रही है, पार्टी के सभी विधायकों, सांसदों से भी अपील एवं आग्रह है कि जनसेवा में पूरी सक्रियता से भागीदारी निभायें, साथ ही पार्टी पदाधिकारी भी जनसेवा के कार्यों में सक्रिय रहें।

कोरोना को लेकर मेरा आप सभी से आग्रह है कि बिल्कुल घबरायें नहीं, सभी चिकित्सकीय सुविधाओं की धीर-धीरे सकारात्मक तौर पर आपूर्ति हो रही है। जनसहयोग इसलिये जरूरी है कि आप सबका सहयोग इस जंग को जीतने में जरूरी है, पहला उपाय मास्क जो सबसे कारगर उपाय है, दूसरा पर्याप्त दूरी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है, घर से जरूरी हो तो ही बाहर निकलें, निकलें तो मास्क लगाकर निकलें, तीसरा बार-बार हाथ धोयें, सैनेटाइजेशन करते रहें और चौथा प्रमाणिक उपाय है वैक्सीनेशन है।
मुझे खुशी है कि इतनी सारी चुनौतियों के बीच भारत दुनिया का वो तीसरा देश बना, जिसने दो स्वदेशी वैक्सीन विकसित की, भारत में 13 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है, राजस्थान में 1 करो़ड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लग चुकी है और अब 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीनेशन के लिये केन्द्र सरकार ने निर्देशित कर दिया है। आईसीएमआर की रिसर्च बताती है कि दो बार वैक्सीन डोज लगने पर व्यक्ति में संक्रमण का खतरा 1 प्रतिशत से भी कम रहता है, इसलिये वैक्सीनेशन को लेकर जागरूकता गांव-ढाणियों तक बहुत जरूरी है। जनता की रक्षा एवं कल्याण हमारा फर्ज है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने अमेरिका से 10 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन मंगाने की बड़ी पहल की है, कस्टम ड्यूटी, स्वास्थ्य सेस इत्यादि से छूट दी है, जो मानवहित में बड़ा हितकारी निर्णय है, इसके अलावा विदेशों की बड़ी कंपनियों से भी रेमेडिसिवर और वैक्सीन की आपूर्ति की भी पहल की है। डॉक्टर्स, चिकित्सक, स्वयंसेवी संस्थायें, सेवा भारती इत्यादि संस्थायें मजबूती से लोगों की सेवा के लिये कार्य कर रहे हैं। प्रदेश में भारतीय जनता युवा मोर्चा भी इस आपदा में बीजेवाइएम केयर्स अभियान से लोगों की ब्लड एवं प्लाज्मा डोनेशन को लेकर बढ़-चढ़कर मदद कर रहा है, 27 अप्रैल को युवा मोर्चा का ब्लड-प्लाजा डोनेशन का बड़ा अभियान है।

मेरा आपसे निवेदन है कि हर व्यक्ति खुद कोरोना की गाइडलाइन का पालन करे, जिससे एक बड़ी अनवरत श्रृंखला बनती चली जाएगी। सियासत अपनी जगह है, लेकिन समाज एवं लोगों का कल्याण हमारी प्राथमिकता है, जिसके लिये हम पूरी तरह समर्पित हैं, यह समय सियासी बयानबाजी का नहीं है, पूरी एकजुटता के साथ पूरी प्रामाणिकता के साथ क्या किया जा सकता है, इसके लिये कार्य करने की जरूरत है। पिछली बार भी कोरोनाकाल में लोगों एवं चिकित्सकों, तमाम संस्थाओं ने भोजन, राशन, पानी, चिकित्सा को लेकर खूब मदद की, उन सभी को साधुवाद देता हूं।

कालाडेरा के सुरेन्द्र कुमावत ने अपनी लगभग 55 लाख रुपये की गाड़ी ऑक्सीजन सिलेंडर के परिवहन के लिये दी है, नीमच के जगदीश मिस्त्री जो पंक्चर की दुकान लगाते हैं अपने ऑक्सीजन सिलेंडर्स डॉक्टर्स को सुपुर्द कर दिये, सूरत की नैंसी आयजा (नर्स) जो चार महीने की गर्भवती हैं, बावजूद अस्पताल में सेवायें दे रही हैं, तो समाज में ऐसे बहुत से उदाहरण हैं जो सकारात्मक वातावरण का निर्माण करते हैं, इसलिये मरीजों, परिजनों, शुभचिंतकों और आमजन से आग्रह है कि धैर्य एवं संयम बनाये रखें, भगवान महावीर एवं जैन धर्म यही सिखाता है, जो संयम एवं धैर्य की प्रेरणा देता है, इस परीक्षा में हम सब एकजुटता से उत्तीर्ण होंगे, सकारात्मकता से हम जीतेंगे।हमारी प्राथमिकता है कोरोना से जीतने की, मैं भरोसे एवं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि कोरोना हारेगा, भारत जीतेगा, राजस्थान जीतेगा, जरूरत है आपकी मजबूत इच्छाशक्ति एवं स्वअनुशान की, आपकी भागीदारी की।

भाजपा एक कार्यकर्ता, सिपाही एवं सेनापति के नाते, हर कदम आपके साथ है, जितनी हमारी क्षमता एवं योग्यता है राजस्थान की जनता के लिये हम समर्पित हैं, हम सब लोगों को इस महामारी से मिलकर लड़ना है, निश्चित रूप से जीतते हैं, नकारात्मकता के वातावरण में सकारात्मक रहने की जरूरत है, एक-दूसरे का मनोबल बढ़ायें।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने देशभर में शौचालय निर्माण, आवास निर्माण, फसल बीमा, पीएम सम्मान किसान निधि, कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना, भारतवर्ष के आस्था के प्रतीक भगवान श्रीराम के मंदिर का अयोध्या में निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया, 70 साल से लंबित इन बुनियादी एवं वैचारिक मुद्दों का नरेन्द्र मोदी ने समाधान कर दिखाया, वो व्यक्ति देश के लिये हमसे ज्यादा चिंतित हैं, उनके नेतृत्व पर पूरा भरोसा है, उसी आधार पर कह सकता हूं कि भारत कोरोना के खिलाफ जंग को जरूरत जीतेगा।