editor

राजस्थान बजट 2020-21: गहलोत का पिटारा कितना भरा,कितना खाली

फोकस भारत। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Rajasthan chief minister Ashok Gehlot )ने  2020-21 के लिए गुरूवार को विधानसभा में राज्य बजट (state budget) रखा । सीएम अशोक गहलोत ने बजट पेश करते हुए कई योजनाओं की घोषणा की और दावा किया कि इस बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। बजट में 7 संकल्प पहला संकल्प- निरोगी राजस्थान दूसरा संकल्प- संपन्न किसान तीसरा संकल्प- महिला, बाल एवं

राजस्थान में दलितों से दरिंदगी का मामला, गहलोत सरकार से बोले राहुल- तुरंत लें एक्शन

फोकस भारत। राजस्थान का नागौर ज़िले के  पांचौड़ी थाना क्षेत्र का करणु गांव। यहां एक दलित युवक से दरिंदगी करने का मामला सामने आने के बाद दलितों में आक्रोश है। आरोपियों ने क्रूरता की हदें पार करते हुए दलित युवक के गुप्तांग में पेचकस में कपड़ा लपेटकर पेट्रोल डाल दिया। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो रहा है, जो डरावना है। उसके साथ मौजूद एक और दलित युवक को

नरेन्द्र मोदी-लिट्टी चोखा और क्रोनोलोजी

फोकस भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में दिल्ली में हुए ‘हुनर हाट’ कार्यक्रम में लिट्टी चोखा खाते नज़र आए। इसके बाद  सोशल मीडिया पर लिट्टी चोखा को लेकर चर्चा होने लगी और ये क़यास भी लगाए जाने लगे कि कहीं इसका संबंध बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से तो नहीं है। लेकिन राजनीतिक विशलेषक मानते है कि ये बीजेपी की मार्केटिंग स्ट्रटेजी है बिहार विधानसभा चुनाव के लिए 

उमर अब्दुल्ला के हिरासत में रखे जाने की नौ वजहें उचित या अनुचित ?

फोकस भारत। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता  और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री, उमर अब्दुल्ला के हिरासत में रखे जाने की नौ वजहें बताई गई हैं। दरअसल अनुच्छेद 370 के हटाए जाने और राज्य को दो टुकड़ों में विभाजित किए जाने के बाद से कई प्रमुख राजनीतिक नेताओं को जम्मू-कश्मीर पब्लिक सेफ़्टी एक्ट (1978) के तहत हिरासत में रखा गया है। इन लोगों को हिरासत में रखने के लिए जो आदेश जारी

ट्रंप भारत यात्रा: अहमदाबाद में ‘गरीबी छिपाओ’ के बाद ‘गरीब हटाओ’, क्या यही गुजरात मॉडल?

फोकस भारत। अहमदाबाद से एक के बाद एक चौंकाने वाली खबरें सामने आ रही है जिसके बाद ये सवाल खड़ा हो रहा है कि आख़िर प्रधानमंत्री मोदी का गुजरात मॉडल क्या है?  ग़रीबी छुपाना? या ग़रीबी दूर नहीं कर ग़रीबों को ही हटा देना?  ऐसा नहीं है तो अहमदाबाद में झुग्गी-झोपड़ियों को हटाने के लिए लोगों को नोटिस क्यों दिया गया है? झुग्गी-झोपड़ियों के आसपास दीवार खड़ी क्यों की जा

“अमित शाह जी, हमें आशीर्वाद देने के लिये धन्यवाद”, ये है भारत की पत्रकारिता

“अमित शाह जी, हमें आशीर्वाद देने के लिये धन्यवाद”। ये महज एक वाक्या नहीं बल्कि पत्राकारिता के गिरते स्तर की एक तस्वीर है। जिन पत्रकारों को सरकार से जवाबदेही माँगनी चाहिए, वो आशीर्वाद माँग रहे हैं। टाइम्स नाऊ प्रोग्राम में विजन न्यू इंडिया कार्यक्रम में एंकर नविका कुमार ने जो कहा वो सुनिए

भोपाल में पापा चलाते हैं पंचर की दुकान, बेटा दूसरी बार बना विधायक

फोकस भारत। दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 62 सीटों पर जीत दर्ज की है। इन 62 में एक विधानसभा सीट जंगपुरा पर जीत दर्ज करने वाले प्रवीण कुमार देशमुख भी हैं। जिनके पिता भोपाल में आज भी पंचर की दुकान चलाते हैं। ये सादगी राजनीतिक जीवन में मिसाल है। प्रवीण कुमार भले ही जंगपुरा विधानसभा से दूसरी बार विधायक बन गए लेकिन उनके पिता पीएन देशमुख ने

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में इन 8 नेत्रियों ने मारी बाजी

फोकस भारत। 1 – हरिनगर विधानसभा – राजकुमारी ढिल्लन – आप 2- मंगोलपुरी विधानसभा- राखी बिड़लान – आप 3- कालकाजी विधानसभा – आतिशी- आप 4 पालम विधानसभा – भावना गौड़- आप 5. आर के पुरम विधानसभा – प्रमिला टौकस – आप 6. राजौरी गार्डन विधानसभा – धनवन्ति चंदेला- आप 7. शालीमार बाग विधानसभा – बन्दना कुमारी – आप 8 त्रिनगर विधानसभा – प्रिति तोमर – आप दिल्ली विधानसभा चुनाव के

केजरीवाल सरकार -3 में जीत की हैट्रिक लगाने वाली दमदार युवा नेत्री

फोकस भारत। दमदार नेत्री राखी बिड़लान को दिल्ली विधानसभा की मंगोलपुरी विधानसभा से जीत की हैट्रिक लगाने पर फोकस भारत की ओर से बधाई और शुभकामनाएं। दरअसल राखी बिड़लान दिल्ली सरकार की पूर्व कैबिनेट मंत्री हैं वह दिसंबर 2013 और फरवरी 2014 के बीच महिला एवं बाल विकास मंत्री रहीं। राखी का जन्‍म दिल्ली में हुआ और चार पीढ़ियों से उनका परिवार सामाजिक कार्यों में लगा हुआ है। उन्होंने 2013

जीत के बाद बोले केजरीवाल- दिल्ली वालों गजब कर दिया, I Love You

फोकस भारत। अरविन्द केजरीवाल ने मंच से संबोधन में दिल्ली की जनता को आई लव यू कहा। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सुनामी लगातार, दूसरी बार AAP का स्कोर 60 पार,10 से कम सीटों पर सिमटी भाजपा ,लगातार दूसरी बार खाता नहीं खोल पाई कांग्रेस। दरअसल राजधानी दिल्ली के चुनावी रण में आम आदमी पार्टी एक बार फिर सबसे बड़ी सिकंदर बनकर आई है। अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में